SCC is a place where u can get free study material for academic & competitive exams like CTET,SSC,IIT,NDA,Medical exams etc,

Thursday, 22 December 2016

हैरान रह जायेंगे आप धरती के बारे में ये तथ्य जानकर…

 do you know,gk in hindi ,science in hindi,space ,antrich,earth,parthvi,



हमारी पृथ्वी के बारे में कुछ रोचक तथ्य पृथ्वी के बारे में आपने बहुत कुछ सुना होगा aपर आपको कुछ ऐसे तथ्य इस पोद्त में जानने को मिलेंगे जो aशायद आपने कही भी नही सुने होंगे. पृथ्वी की आतंरिक रचना तीन प्रमुख  aपरतों में हुई है भूपटल, भूप्रावार और क्रोड. तो आइये जाने पृथ्वी के बारे में कुछ रोचक तथ्य.
1. अंतरिक्ष में प्रतिवर्ष लगभग 1000 टन धुल-कण पृथ्वी में समा जाते है. a
2. पृथ्वी पर पानी की अधिकता अन्य गृह की तुलना में सबसे अधिक है पृथ्वी पर तीन चौथाई हिस्से पर पानी है.  aपृथ्वी की त्रिज्या की तुलना में इसकी गहराई बहुत ही कम है. पृथ्वी के सम्पूर्ण पानी से गेंद बनाई जाये तो इसकी त्रिज्या 700 किमी जो की चाँद की त्रिज्या के आधे से भी कम होती है. a
3. धरती की सतह का सिर्फ 11 % हिस्सा ही भोजन के उत्पादन के लिए उपयोग किया जाता है. a
4. पृथ्वी पर सभी स्थानों पर गुरुत्वाकर्षण बल अलग अलग है. क्योकि पृथ्वी पर अलग अलग स्थानों पर प्रिथ्व्वी के केंद्र से दुरी अलग अलग है. इसी कारण भू-मध्य रेखा पर आपका वजन ध्रवों से थोड़ा ज़्यादा होता है. a
5. धरती अपने धुरी पर 1600 k.m प्रति घंटा की रफतार से चक्कर लगाती है जबकि सुर्य के चारो और यह 29 k.m प्रति सैकेंड की रफतार से चक्कर लगाती है a.
6. चाँद सहित अनेक ऐसे गृह है जिन पर पानी की उपलब्धता है किन्तु पृथ्वी एक मात्र ऐसा गृह है जिस पर पानी ठोस, द्रव तथा गैस तीनो अवस्था में पाया जाता है a.
7. पृथ्वी पर प्रतिदिन 45,00 बादल गरजते हैं a.
8. हर वर्ष लगभग 30,000 बाहरी अंतरिक्ष के पिंड धरती के वायुमंडल में प्रवेश करते हैं पर इनमें से ज्यादातर धरती के वायुमंडल में प्रवेश करते ही घर्षण के कारण जलने लगते है जिन्हें हम अकसर ‘टूटता तारा’ भी कह देते हैं a.
9. आज तक मनुष्य के द्वारा पृथ्वी पर सबसे ज्यादा गहराई तक खोदा जाने वाले गढ़े की गहराई 12,262 k.m थी जो की 1989 में रूस मे खोदा गया था a.
10. पृथ्वी के 40 प्रतिशत हिस्से में दुनिया के सिर्फ 6 देश हैं a.
11. धरती पर रहने वाले सारे मनुष्य सिर्फ़ 1 वर्ग किलो.मीटर घन (cube) में समा सकते हैं a.
12. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि धरती का वजन लगभग 6,588,000,000,000,000,000,000 टन है a.
13. धरती के गुरूत्वाकर्षण के कारण पर्वतों की ऊँचाई 15,000 मीटर से ज़्यदा नहीं हो सकती a.
14. धरती पर सारे महाद्वीप पिछले 2.5 करोड़ साल से गति कर रहे हैं. हर एक महाद्वीप दूसरे महाद्वीप से भिन्न चाल से गति कर रहा है a.
15. क्या आप जानते है आज से 6.5 करोड़ साल पहले धरती के सारे महाद्वीप एक दूसरे के साथ जुडे हुए थे. वैज्ञानिको के अनुसार धरती पे कोई उल्का पिंड गिरने की वजह से निरंतर ज्वालामुखीयों और ताकतवर भुकंपों के कारण यह महाद्वी एक दूसरे से अलग हो गए. इसी कारण से ही धरती से डायनासोरो का अंत हुआ था a.
16. धरती पर ताप का स्त्रोत केवल सुर्य नही है बल्कि धरती के अंदरूनी भाग का ताप भी एक अनुमान के अनुसार 5000 से 7000 डिग्री सेल्सियस है जो कि सुर्य की सतह के तापमान के बराबर है a.
17. माना जाता है कि शुक्र, सौर मंडल का सबसे ज़्यादा चमकीला ग्रह है पर अगर एक खास दूरी से सौर मंडल के सभी ग्रहों को देखा जाए तो पृथ्वी गृह सबसे ज्यादा चमकीला नजर आता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि धरती पर उपस्थित पानी सुर्य के प्रकाश को परिवर्तित कर देता है जिससे एक खास दूरी से देखने पर धरती सबसे चमकीली नजर आती है a.
18. पृथ्वी पूरी तरह से गोल नही है बल्कि इसके भू-मध्य रेखीय और ध्रुवीय व्यासों में लगभग 40 किलोमीटर का फर्क है a.
19. धरती पर रहने वाले हर प्राणी में कार्बन जरूर पाया जाता है a.
20. पृथ्वी की रोटेशन स्पीड थोड़ी कम हो जाने की वजह से साल 2015 एक सेकंड लंबा था.
21. पृथ्वी पर हर साल लगभग 5 लाख भूकंप आते हैं जिसमें से सिर्फ एक लाख भूकंप महसूस किए जाते हैं और 100 भूकंप विनाशकारी होते हैं a.
22. पृथ्वी अपनी धुरी पर घुमने में 23 घंटे 56 मिनट और 4 सेकंड का समय लेती है.
23. एक दिन में 2,00,000 लोग जन्म लेते हैं और हर दो सेकंड में एक मौत हो रही है a.
24. दुनिया में 39 % मौतें पानी, हवा और मिट्टी के प्रदूषण के कारण से होती हैं. और सिर्फ एयर पॉल्यूशन की वजह से हर साल 70 लाख लोग मर रहे है a.



Click to download following topics related to ssc exam  
























Share on Google Plus Share on whatsapp

Search

Popular Posts

Facebook

Blogger Tips and TricksLatest Tips For BloggersBlogger Tricks
SCC Education © 2017. Powered by Blogger.

Total Pageviews